MP: दमोह में अवैध पटाखा फैक्ट्री में भीषण विस्फोट, मालिक सहित तीन मजदूरों की मौत, कई लोग मलबे में दबे

ब्रह्मवाक्य, दमोह। मध्य प्रदेश के दमोह में अवैध पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट हो गया। मंगलवार की दोपहर हुई इस घटना में फैक्ट्री मालिक सहित तीन लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में इस फैक्ट्री में काम करने वाली दो महिलाएं भी शामिल हैं। जबकि काम कर रहे 11 मजदूर बुरी तरह झुलस गए। ब्लास्ट इतना जोर का था कि फैक्ट्री मालिक के शरीर के चीथड़ों में उड़ गए। सूचना पर पुलिस प्रशासन मौके पर पंहुचा और घायलों को जिला अस्पताल पहुंचे गया है। द्वारा मामले जांच की जा रही है। कई मजदूरों के मलबे में दबे होने की आशंका है। पुलिस एवं स्थानीय लोगों के द्वारा रेस्क्यू किया जा रहा है। यह पटाखा फैक्ट्री रिहायशी क्षेत्र में संचालित हो रही थी। बावजूद पुलिस और प्रशासन द्वारा अनदेखी की जाती रही। मौके पर पुलिस अधीक्षक सुनील तिवारी, कलेक्टर मयंक अग्रवाल भी जायजा लिया।

जानकारी के मुताबिक दमोह शहर के रिहायशी इलाके बड़ा पुल क्षेत्र में मंगलवार दोपहर करीब 1.00 बजे बिस्फोट हुआ है । यहां पर अभय उर्फ छुट्टन गुप्ता की पटाखा फैक्ट्री संचालित थी। दिवाली को लेकर यहां पर लगातार पटाखा निर्माण किया जा रहा था। मंगलवार को भी अभय करीब एक दर्जन मजदूरों के साथ पटाखा फैक्ट्री में मौजूद थे। तभी अचानक धमाके की आवाज सुन कर आसपास के लोग पहुंचे। हादसे की जानकारी तत्काल पुलिस को दी गई।

सूचना मिलाने पर दमोह एसपी सुनील कुमार तिवारी सहित पुलिस-प्रशासन व नगर पालिका का अमला और फायर बिग्रेड टीम तत्काल मौके पर पहुंची। तत्काल मलबे में दबे लोगों को बाहर निकालने रेस्क्यू शुरू किया। बड़ी मात्रा में बारूद होने की संभावना चलते मलबे में पानी भी डाला गया। सबसे पहले गुप्ता का क्षत- -विक्षत शव मिला। वहीं, एक घंटे की मशक्कत के बाद दो महिलाओं शव निकला। उनका भी शरीर बुरी तरह से जला हुआ था। प्रारंभिक जांच में सामने आया है की दमोह के इमलाई फैक्ट्री क्षेत्र में बारूद संग्रहण की परमिट थी, लेकिन यहां गुप्ता द्वारा घर के पिछले इलाके में पटाखा निर्माण करवा जा रहा था।

 

BM Dwivedi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button