परिवार नियोजन के लिए अब पुरुष भी ले सकेंगे गर्भनिरोधक, ICMR ने किया सफल ट्रायल, लंबे समय तक रहेगा असर

ब्रह्मवाक्य, डेस्क। अवांछित गर्भ को रोकने के लिए महिलाओं के लिए तो कई गर्भनिरोधक के साधन उपलब्ध हैं, लेकिन पुरुषों के लिए ऐसे उपाय उपलब्ध नहीं है। लेकिन ICMR (Indian Council of Medical Research) को इस दिशा में बड़ी सफलता मिली है। सात सालों के क्लीनिकल टेस्ट के बाद ICMR ने पुरुषों के लिए भी गर्भनिरोधक इंजेक्शन तैयार है जिसका कोई भी साइडइफेक्ट नहीं है। यह गर्भनिरोधक लंबे पुरुषों में समय तक असर करता है। ICMR ने 303 स्वस्थ लोगों पर इसका प्रयोग किया।

इंटरनेशनल जर्नल ऐंड्रोलॉजी (International Journal Andrology) में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक ICMR ने तीसरे चरण की स्टडी में 303 युवाओं को शामिल किया था। ये सभी लोग विवाहित थे और इनकी आयु 25 से 40 साल के बीच थी। इन्हें 60 एमजी रिवर्सिबल इनहिबिशन ऑफ स्पर्म अंडर गाइडेंस (Reversible inhibition of sperm under guidance) दिया गया था। अध्ययन में सामने आया है कि बिना किसी गंभीर साइड इफेक्ट के RISUG प्रेग्नेंसी को रोकन में 99.02 फीसदी कारगर है। इसने 97.3 फीसदी एजूस्पर्मिया (azoospermia) की स्थिति बना दी। एजूस्पर्मिया मतलब सीमेन में कोई भी ऐक्टिव स्पर्म प्रवेश नहीं कर रहा है।

अध्ययन में पुरुषों के साथ उनकी पत्नियों का भी चेकअप किया गया। जिसमे पाया गया कि महिला पर भी इसका कोई बुरा प्रभाव नहीं हुआ था। स्टडी पांच शहरों में की गई जिसमें नई दिल्ली, जयपुर, खडगपुर, उधमपुर और लुधियाना शामिल हैं। इसके बाद दो मुख्य बातों का पता लगाया जा सका कि यह गर्भनिरोधक कितने समय तक कारगर है और कितना सुरक्षित है। हालांकि अध्ययन में पता चला कि इसके उपयोग से कुछ पुरुषों को थोड़ी दिक्कत हुई जो कि आसानी से ठीक भी हो गई। जैसे कि पेशाब में जलन या बुखार जैसी समस्या। इस गर्भनिरोधक का सबसे बड़ा फायदा यह है कि एक बार लेने के बाद इसका असर लंबे समय तक करता है। जबकि इसके साइड इफेक्ट न के बराबर हैं।

BM Dwivedi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button