आदि कैलास के दर्शन कर पीएम मोदी ने लगाया ध्यान, अब ‘शिव का घर’ के दर्शन के लिए नहीं जाना पड़ेगा चीन

ब्रह्मवाक्य, डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) उत्तराखंड पहुंचने पर सबसे पहले भारत-चीन सीमा पर स्थित पिथौरागढ़ जिले (Pithoragarh district situated on India-China border) गए। जहां उन्होंने आदि कैलास के दर्शन कर ध्यान लगाया और पार्वती कुंड में भी पूजा-अर्चना भी की। 12 अक्तूबर को उत्तराखंड के दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी ने भारतीय सेना और आईटीबीपी के जवानों के बीच पहुंचकर उनकी हौसला-अफजाई भी की। आदि कैलास यात्रा के पड़ाव में गुंजी गांव पहुंच कर पीएम मोदी ने ग्रामीणों से मुलाकात की और उनके द्वारा निर्मित स्थानीय उत्पादों की सराहना की। बतादें कि एक साल पहले तक आदि कैलास पर जाने वाले तीर्थ यात्रियों को चीन से होकर गुजरना पड़ता था। लेकिन, अब श्रद्धालु भारत के पिथौरागढ़ जिले से होकर ही आदि कैलास यात्रा पर जा सकते हैं।

बतादेंकि देश की आदि कैलास के दर्शन करने वाले पीएम नरेंद्र मोदी पहले प्रधानमंत्री बन गए हैं। हालांकि, इससे पहले भी मोदी छह साल पहले 2017 में विधानसभा चुनावों के समय पिथौरागढ़ जनसभा में पहुंचे थे। प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार को यहां विभिन्न विकास कार्यों का शिालान्यास व लोकार्पण करेंगे। करने के बाद जनसभा को संबोधित करेंगे।

भारत और चीन-नेपात की सीमा पर पिथौरागढ़ जिले में स्थित है। हिन्दू मान्यता के अनुसार, आदि कैलास भगवान शिव के परिवार का निवास स्थल है। यहां पर मां पार्वती, भगवान गणेश और कार्तिकेय रहते हैं। आदि कैलास मार्ग पर मुख्य आकर्षण ऊं पर्वत है। जिसमें ऊं की आकृति उभरी हुई है।बताया जाता है कि बर्फ गिरने के बाद पर्वत से ऊं की ध्वनि गुंजित होती है।

BM Dwivedi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button