यूनेस्को ने ग्वालियर को दिया ‘सिटी ऑफ म्यूजिक’ का तमगा, सिंधिया ने जताई खुशखबरी, X के जरिये दी जानकारी

ब्रह्मवाक्य, ग्वालियर। आज मध्य प्रदेश के स्थापना दिवस (Madhya Pradesh Foundation Day ) के अवसर पर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने एक बड़ी खुशखबरी साझा की दी है। सिंधिया ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X के जरिये बताया कि ग्वालियर को ‘सिटी आफ म्यूज़िक’ का ख़िताब मिला है। सिंधिया ने स्वयं इसके लिए जून के महीने में UNESCO (यूनेस्को ) को एक चिट्ठी लिखी थी। जिसके बाद अब UNESCO ने ग्वालियर को ‘सिटी आफ म्यूज़िक’ का तमगा दे दिया है।

केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने मध्य प्रदेश के स्थापना दिवस (Madhya Pradesh Foundation Day ) पर राज्य के लोगों को बधाई देते हुए X पर लिखा है कि , ‘मध्य प्रदेश स्थापना दिवस के मौके पर ग्वालियर-वासियों के लिए एक गौरव भरा ऐतिहासिक पल! यह बताते हुए मुझे अत्यंत प्रसन्नता हो रही है कि UNESCO द्वारा ग्वालियर को ‘सिटी ऑफ़ म्यूजिक’ की मान्यता दी गई है। यह उपलब्धि केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय व केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय (Union Ministry of Culture and Union Ministry of Tourism) के साथ मिलकर किये गए अथक प्रयासों का परिणाम है। यह उपलब्धि ग्वालियर को विश्व पटल पर एक नई पहचान प्रदान करेगी। इसके साथ ही विकास व रोज़गार के नये द्वार खोलेगी। इस ऐतिहासिक उपलब्धि की सभी प्रदेश वासियों को अनंत बधाई तथा स्थापना दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।’

बतादें कि ग्वालियर को यह तमगा संगीतकार बैजू बावरा और तानसेन (Musicians Baiju Bawra and Tansen) की वजह से मिला है। सिटी ऑफ म्यूजिक (City of Music) का ताज मिलने के बाद अब विश्व भर में ग्वालियर के साथ ही मध्यप्रदेश को एक नई पहचान मिलेगी। अब अंतरराष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रम ग्वालियर में आयोजित हो सकेंगे और इसके साथ ही क्षेत्र में पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा। यूनेस्को ने महानिदेशक ऑद्रे अजोलो (UNESCO Director General Audrey Ajollo) ने 55 ऐसे शहरों की सूची जारी की है जिसे यूनेस्को क्रिएटिव सिटीज नेटवर्क में शामिल किया गया है। UNESCO की इस सूची में ग्वालियर के हिस्से यह उपलब्धि आई है।

 

BM Dwivedi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button