कलेक्टर प्रतिभा पाल ने दिए निर्देश, सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों का निराकरण जल्द से जल्द करें

ब्रह्मवाक्य/रीवा। लोकसभा चुनाव की तैयारियाँ शुरू हो गई हैं।कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर प्रतिभा पाल ने कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए सभी कार्यालय प्रमुख अपने अधीनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों की जानकारी दो दिवस में पोर्टल में दर्ज करा दें। सभी एसडीएम बीएलओ की बैठक लेकर मतदाता सूची के संशोधन और परिवर्धन का कार्य कराएं। दिव्यांगों तथा 85 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं की मतदान केन्द्रवार सूची तैयार कराएं।

कलेक्टर ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों का सभी अधिकारी नियमित निराकरण करें। अधिकारी 50 दिन से अधिक समय से लंबित शिकायतों तथा फरवरी एवं मार्च माह की शिकायतों का प्राथमिकता से निराकरण करें। कोई भी कार्यालय सीएम हेल्पलाइन की रैंकिंग में डी श्रेणी में न रहे। सभी एसडीएम राजस्व विभाग के सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण पर विशेष ध्यान दें। किसान सम्मान निधि की हाल ही में राशि जारी की गई है। आगामी ग्रीष्म ऋतु को ध्यान में रखते हुए जिले की सभी बसाहटों में पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक प्रबंध करें।

आयुक्त नगर निगम तथा जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण पर ध्यान दें। जिला शिक्षा अधिकारी अतिथि शिक्षकों के लिए आवंटित बजट से लंबित बिलों का भुगतान कराकर सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों का निराकरण कराएं। कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग का वेतन सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों के निराकृत होने तक रोकने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जल संसाधन विभाग के विभिन्न कार्यपालन यंत्रियों तथा आबकारी निरीक्षक सिरमौर को कारण बताओ नोटिस देने के निर्देश दिए।

इस बैठक में कलेक्टर ने कहा कि राजस्व महाअभियान में बड़ी संख्या में प्रकरण निराकृत किए गए हैं। अभी भी हजारों प्रकरण ई केवाईसी न होने के कारण लंबित हैं। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सभी जनपदों की समीक्षा करके ई केवाईसी के प्रकरण निराकृत कराएं। सभी एसडीएम भी अपने स्तर से इसके लिए प्रयास करें। खाद्य सुरक्षा अधिकारी मिलावट के विरूद्ध चलाए जा रहे अभियान की पूरी रिपोर्ट प्रस्तुत करें। रिपोर्ट को पोर्टल पर भी दर्ज कराएं।

जल जीवन मिशन तथा पीएचई विभाग की नलजल योजनाओं के लिए जिन स्थानों में टंकियाँ बनाई जानी हैं वहाँ भूमि उपलब्ध कराएं। जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तथा तहसीलदार तीन दिवस में इस संबंध में कार्यवाही सुनिश्चित करें। बैठक में कलेक्टर ने उचित मूल्य दुकानों से खाद्यान्न वितरण, वर्षा और ओलावृष्टि से उत्पन्न स्थिति, भूअर्जन के प्रकरणों के निराकरण, राजस्व वसूली तथा पटवारियों के प्रशिक्षण के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए।

Sameeksha mishra

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button