Shardiye Navratri 2023: नवरात्रि के दूसरे दिन होगी मां ब्रह्मचारिणी की पूजा और उपासना, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

ब्रह्मवाक्य, धर्म-आध्यात्म। शारदीय नवरात्रि के दूसरे दिन आज मां जगदम्बा के ब्रह्मचारिणी स्वरूप की पूजा और उपासना की जाती है। जिन्हे ज्ञान, वैराग्य और तपस्या की देवी माना जाता है। कठोर साधना के साथ सतत ब्रह्म में लीन रहने की वजह से इन्हें मां ब्रह्मचारिणी कहा जाता है। विद्यार्थियों और और तपस्वियों के लिए मां ब्रह्मचारिणी की पूजा बहुत ही फलदायी मानी जाती है। जिन जातकों की कुंडली में चन्द्रमा कमजोर होता है, उन्हें मां ब्रह्मचारिणी की उपासना करनी चाहिए जो अत्यंत मंगलकारी होता है।

पूजा के लिए श्रेष्ठ मुहूर्त
नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा के लिए 2 शुभ मुहूर्त बताये गए हैं। सुबह 10 बजकर 17 मिनट से सुबह 11 बजकर 58 मिनट तक अमृत काल रहेगा एसके बाद फिर सुबह 11 बजकर 44 मिनट से दोपहर 12 बजकर 29 मिनट तक अभिजीत मुहूर्त रहेगा। मां ब्रह्मचारिणी की पूजा के लिए ये दोनों ही मुहूर्त श्रेष्ठ रहेंगे।

पूजन विधि
मां ब्रह्मचारिणी की उपासना व पूजन के वक्त पीले या फिर सफेद वस्त्र धारण करें। पूजन के दौरान मां को सफेद वस्तुएं अर्पित करें। जैसे कि शक्कर, मिसरी या पंचामृत। मंत्र का जपा करें। मां ब्रह्मचारिणी के लिए “ॐ ऐं नमः” मंत्र का जाप करना उत्तम होता है।

 

BM Dwivedi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button