सहकर्मी महिला कॉन्स्टेबल की हत्या का 2 साल तक छुपाए रखा राज, जानिए क्यों ‘डैडा’ ने किया मर्डर

ब्रह्मवाक्य, दिल्ली। राजधानी दिल्ली में एक युवती जो अपने सपनों को साकार करने के लिए तैयारी कर रही थी। लेकिन उसका ही एक सहकर्मी जो उससे दोगुनी उम्र का था, जिसे वह सम्मान में ‘डैडा’ बुलाती थी। लेकिन यह सहकर्मी उस पर बुरी नज़र रखता था और उसके साथ संबंध बनाना चाहता था। जब महिला को इस बात का अहसास हुआ तो उनसे दूरी बनाली। जो इस दरिंदे को नागवार गुजरा और महिला के विरोध करने पर उसकी गाला दबाकर हत्या कर दी।

दिल्ली पुलिस ने एक पूर्व महिला कॉन्स्टेबल के कत्ल के मामले में अपने ही एक हेड कॉन्स्टेबल सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मृतक महिला का दो साल से कोई पता नहीं था। दरअसल आरोपी हेड कॉन्स्टेबल सुरेंद्र सिंह राणा (42) जो पहले से शादीशुदा था और अपनी सहकर्मी 28 वर्षीय महिला कॉन्स्टेबल से एकतरफा प्यार करता था, लेकिन महिला ने जब उसके मंसूबों को पूरा करने से इनकार कर दिया तो उसने उसका कत्ल कर दिया।

पीड़िता की पहचान मोना के रूप में हुई है। इस हत्याकांड के बाद आरोपी हेड कॉन्स्टेबल ने बड़ी चालाकी से पुलिस और महिला के परिवार को दो साल तक गुमराह करता रहा। अपने झूठ में उलझाकर दो सालों में उसने महिला के घरवालों को विश्वास दिला दिया कि वह जिंदा है और किसी के साथ भाग गई है। आखिरकार दो साल बाद इस साजिश का भंडाफोड़ हो गया और आरोपी सुरेंद्र सिंह (42) अपने दो अन्य साथियों के साथ पुलिस के हत्थे चढ़ गया। सुरेंद्र के साले रविन (26) और राजपाल (33) ने लाश और अपराध को छिपाने में उसकी मदद की थी।

 

BM Dwivedi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button